अमित शाध की टीवी सीरियल से फिल्मों तक आने तक की कहानी । - सारी जानकारी हीन्दी और English

Latest

This blog gives you full information of history,news and defence knowledge and other catogaryjust like fashion etc

facebook

Follow

Translate

यह ब्लॉग खोजें

रविवार, 19 जुलाई 2020

अमित शाध की टीवी सीरियल से फिल्मों तक आने तक की कहानी ।



एक्टर अमित शाध जिन्होंने टीवी सीरियल से फिल्म मैं जाने तक की कहानी ।



अमित शाह के पहले टीवी सीरियल का नाम ,"क्यों होता है प्यार "से की थी। इसके बाद ," नच बल्लिए", "कोहिनूर" जैसे सीरीज में भी वह नजर आए और फिर बिग बॉस सीजन वन मैं भी गए थे ।

उनकी पहली फिल्म "मूक-2" थी । इसके बाद उन्होने , " काई पो चे" , " सुल्तान " ," गोल्ड " और "सूपर-30 "अदि फिल्मों मैं भी काम किया है।


2020 में उनकी एक के बाद है 2 वेब सीरीज , 2 फिल्म आ रही है,जिनमें से एक वेब सीरीज , "breathe into the shadow" हेमा जॉन प्राइम पर रिलीज हो चुकी है, अगली सीरीज , "Avrodh the seige within" है ।

इसके बाद दो और फिल्में रिलीज हो रही है जिनका नाम "यारा "और "शकुंतला देवी " है। यह दोनों फिल्में भी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर ही रिलीज होगी ।

इन्हें भी पढ़ें :-

अमित साध ने बॉलीवुड हंगामा मैं एक इंटरव्यू मैं कहा।


  1. और मैं हमेशा लड़ने के लिए तैयार रहता था ।हमें स्कूल में लड़ना सिखाया गया था । मेरे पिता ने मुझे सिखाया था कि अगर कोई एक हाथ तोड़े तो दूसरा तोड़ दो ।लेकिन वो सब तीस साल पहले की बात है ।
  2.  अमित साध को नहीं पता था कि दुनिया बदलेगी । तो मैंने बहुत ही अलग तरह की सीख सीखी थी । फिर मैं टीवी की दुनिया में गया , लेकिन मैं कभी खुद फिल्मों के लिए टीवी की दुनिया नहीं छोड़ी । उन लोगों ने मुझे बैन कर दिया था ।उन्होंने एक - दूसरे को कॉल करके कहा था कि ' इसको काम मत दो ' , फिर मैंने कहा कि नहीं दोगे काम , तो मैं भी पिक्चरों में जाऊंगा "और मैं हमेशा लड़ने के लिए तैयार रहता था ।
  3. हमें स्कूल में लड़ना सिखाया गया था । मेरे पिता ने मुझे सिखाया था कि अगर कोई एक हाथ तोड़े तो दूसरा तोड़ दो । लेकिन वो सब तीस साल पहले की बात है । उन्हें नहीं पता था कि दुनिया बदलेगी ।तो मैंने बहुत ही अलग तरह की सीख सीखी थी । 
  4. फिर मैं टीवी की दुनिया में गया , लेकिन मैं कभी खुद फिल्मों के लिए टीवी की दुनिया नहीं छोड़ी . उन लोगों ने मुझे बैन कर दिया था । उन्होंने एक - दूसरे को कॉल करके कहा था कि ' इसको काम मत दो ' , फिर मैंने कहा कि नहीं दोगे काम , तो मैं भी पिक्चरों में जाऊंगा  " ।

इसके बाद एक बड़े बड़े प्रड्यूसर ने कॉल किया और कहा कि तुम एक्टिंग बहुत अच्छे करते हो लेकिन तुम्हारी कुछ शिकायतें आ रही है ।
 कि तुम किसी की नहीं सुनते हो,इसने अमित शाध ने कहा कि मैंने कोई गलती नहीं की है , तो मैं किसी की क्यों सुनू ।

 कुछ समय बाद यह समझ में आ गया की जब अपना समय खराब हो तो किसी को कुछ मत कहो और जब वक्त अच्छा आता है ,
तो किसी को कुछ बोलने की जरूरत ही नहीं है। इसके बाद उन्होंने अपना सारा गुस्सा अपने काम पर लगा दिया । इसके बाद अमित साध अच्छे से अच्छे प्रोजेक्ट और लोग मिलते गए ,और कामयाबी मिलती गई ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

How can I help you

popular post on last month