RBI के काम करने के तरीके ( working process of reserve bank of india ) - सारी जानकारी हीन्दी और English

Latest

This blog gives you full information of history,news and defence knowledge and other catogaryjust like fashion etc

facebook

Follow

Translate

यह ब्लॉग खोजें

गुरुवार, 30 जुलाई 2020

RBI के काम करने के तरीके ( working process of reserve bank of india )

कभी आपने सोचा है कि आर बी आई कैसे काम करता है,और कैसे मुनाफा कमाता है।आपके मन में ये विचार भी आता होगा कि आखिर आर बी आई के पास कितना सोना है। आर बी आई जितने चाहे उतने नोट छापता बेसे नोट छापने के लिए चाहिए ही क्या एक नोट छापने बाली मशीन और कागज,स्याही और कुछ लोग,  आखिर आर बी आई ऐसा क्यों नहीं करती और हमें अमीर बना देती, ती चलते है आज इस विषय पर बात करते हैं।
    
          आरबीआई के पास जितना सोना और विदेशी मुद्रा है उतने ही नोट छाप सकती है,और अगर आर बीआई ने इससे ज्यादा नोट छापने की कोशीश की तो उसके नोट की कीमत गिर जाएगी, अगर भारत की पैसे को एसेट्स से नही संभाला गया तो भारत की हालात भी वेनेजुएला की तरह हो जाएगी जहाँ पर एक लाख तक के नोट है लेकिन उनकी कीमत कौड़ियों के भाव है। भारत के पैसे का मूल्य न घटे इसिलिए आरबीआई इसमें संतुलन बनाए रखती है। world gold counsil के अनुसार भारत सोने के मामले में दसवें स्थान पर है। भारत के पास 612.6टन सोना , यानि 6 लाख12 हज़ार किलोग्राम सोना है। ताज़ा खबरों के अनुसार आरबीआई 6.1% की विदेशी मूद्रा सोने में है। आरबीआई से सोना भारत के साथ-साथ विदेशों में भी रखती है। 

              Act1914के अनुसार आरबीआई के पास दस हज़ार के नोट छापने की इजाजत है। अगर इससे बड़े नोट छापने होगेला Act1914 मे बदलाब करने होगे। आरबीआई बैंकों का भी बैंक है, अगर कीसी बैंक को पैसे चाहिए तो बह आरबीआई के पास जाता है। आरबीआई इन वैंको से इसके बदले ब्याज बसूलता है। और आरबीआई पैसे को स्टोक मार्केट में भी ड्डालता है, इसका मतलब ये नहीं की अपने लिए पैसे कमाता है। आरबीआई ये सारे पैसे भारत सरकार को dividend के रूप में देती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

How can I help you

popular post on last month